Meaning of Personality | व्यक्तित्व का अर्थ, प्रकार, अवस्थाएं

What is Personality ? व्यक्तित्व का अर्थ

Personality व्यक्तित्व शब्द  Latin भाषा के  Persona से लिया गया है जिसका अर्थ है Mask चेहरा, मुखौटा,  नकाब आदि। मुखौटा जिसे नाटक करते समय  नायक पहनते हैं अर्थात जैसा नकाब वैसा व्यक्तित्व ।
व्यक्तित्व का संबंध पहनावे से जोड़ दिया गया है। जिसका पहनावा अच्छा होता है उसका व्यक्तित्व भी अच्छा माना गया है। व्यक्तित्व का संबंध पहनावे से जोड़ना अधिक प्रचलित नहीं हुआ। 

Meaning of Personality  व्यक्तित्व का अर्थ, प्रकार, अवस्थाएं
Meaning of Personality  व्यक्तित्व का अर्थ, प्रकार, अवस्थाएं


व्यक्तित्व की अनेकों परिभाषाएं दी गई किंतु अल्पोर्ट Alport की परिभाषा सबसे मान्य परिभाषा मानी गई। Alport ने 1937 ई. में व्यक्तित्व की और 49 परिभाषा का विश्लेषण करने के बाद अपनी 50वी परिभाषा प्रस्तुत की। 

Alport के अनुसार, “ व्यक्तित्व व्यक्ति के भीतर उन मनु शारीरिक तंत्रों का गत्यात्मक संगठन है जो वातावरण के साथ अपूर्व समायोजन का निर्धारण करता है।”

व्यक्तित्व के अंदर शारीरिक और मानसिक दोनों गुण शामिल होते हैं। गुणों का यह संगठन परिवर्तनशील है। वातावरण के साथ यह अपने ढंग का समायोजन करता है। 


व्यक्तित्व के सिद्धांत

व्यक्तित्व का प्रकार सिद्धांत

द्रव्य के आधार पर (  400 ईसा पूर्व  हिप्पोक्रेट्स द्वारा )

इनके अनुसार मानव शरीर में चार प्रकार के द्रव्य पाए जाते हैं जिस धर्म की प्रधानता होती है व्यक्तित्व वैसा ही हो जाता है। जैसे-

  • Yellow Bile  ( पीला  पित्त )  -  चिड़चिड़ा होना
  • Black Bile  ( काला  पित्त )  -  निराशावादी  होना
  • Blood add  ( खून )  - आशावादी होना
  • Phlegm  ( कफ )  -  निष्क्रियतावादी होना

यह द्रव्य मानव शरीर में पाए जाते हैं कितनी मात्रा में पाए जाते हैं कहा नहीं जा सकता।


शारीरिक रचना के आधार पर

1.  Kretshmer ( क्रैशमर )

  • Picnic Type - इसमें वह व्यक्ति होते हैं जिसका कद छोटा, शरीर मोटा, गर्दन  छोटी, खाने-पीने और सोने का शौकीन,  सामाजिक, खुशमिजाज आदि ।
  • Asthenic Type - इसमें वह व्यक्ति होते हैं जिसका कद लंबा, शरीर दुबला पतला, सामाजिक नहीं होता, चिड़चिड़ा होते हैं। 
  • Athletic Type - इसमें वह व्यक्ति होते हैं जिसका स्वस्थ शरीर, किसी भी परिस्थिति में समायोजित हो जाते हैं ,सामाजिक प्रतिष्ठा ज्यादा मिलती है ।
  • Dysplastic Type - यह उन लोगों के लिए जो बाकी में नहीं थे । इसमें एक से अधिक विशेषता पाई जाती है।


2. Sheldon

  • Endomorphy ( स्थूल काय ) - इसमें वह व्यक्ति होते हैं जिसका कद छोटा, शरीर मोटा, गर्दन  छोटी, खाने-पीने और सोने का शौकीन, सामाजिक, खुशमिजाज आदि होते हैं।
  • Ectomorphy ( कृश काय ) - इसमें वह व्यक्ति होते हैं जिसका कद लंबा, शरीर दुबला पतला, सामाजिक नहीं होता, चिड़चिड़ा होते हैं। 
  • Mesomorphy ( पुष्ट काय )  - इसमें वह व्यक्ति होते हैं जिसका स्वस्थ शरीर, किसी भी परिस्थिति में समायोजित हो जाते हैं ,सामाजिक प्रतिष्ठा ज्यादा मिलती है ।


मानसिक संरचना के आधार पर 

1. जुंग द्वारा

a). Introvert अंतर्मुखी  

  • ये व्यक्ति एकांत में रहना पसंद करते हैं।
  • ये व्यक्ति लोगों से मिलना जुलना पसंद नहीं करते।
  • ये व्यक्ति पुराने विचारों वाले होते हैं।
  • ये व्यक्ति सामाजिक नहीं होते हैं।

b). Extrovert बहिर्मुखी

  • ये व्यक्ति नए विचारों वाले होते हैं।
  • ये व्यक्ति लोगों से मिलना जुलना पसंद करते हैं लोगों में घुल मिल जाते हैं। 
  • ये व्यक्ति सामाजिक होते हैं।

c). Ambivert उभयमुखी ( यह बाद में जोड़ा गया )

            वह व्यक्ति जिसमें अंतर्मुखी और बहिर्मुखी दोनों के गुण शामिल होते हैं उन्हें उभय मुखी कहा जाता है।


2. व्यक्तित्व का आधुनिक प्रकार ( Friedman and Rosenman )

  • A Type Personality - यह व्यक्ति उच्च अभिप्रेरित (Highly Motivated) होते हैं । इनके पास काम ज्यादा होता है समय कम होता है। ये व्यक्ति जल्दी में होते हैं। ये व्यक्ति काम के बोझ से दबे होते हैं। इन्हें बीपी और दिल की बीमारी जल्दी होती है ।
  • B Type Personality  इन प्रकार के व्यक्ति में  ए टाइप के विपरीत विशेषता पाई जाती है।
  • Morris ने Type C Personality का वर्णन किया। यह व्यक्ति सहयोगी होते हैं। यह धैर्यवान और अल्प भाषी होते हैं। Disease - Cancer 
  • D Type Personality बाद में  type D को जोड़ा गया है। यह व्यक्ति अवसाद, डिप्रेशन, तनाव, रुचि की कमी से ग्रसित होते हैं।


व्यक्तित्व के शीलगुण सिद्धांत

Alport द्वारा शीलगुण -  " ऐसी आदत जो लगभग स्थाई हो शीलगुण कहलाती है। "

Alport के अनुसार शीलगुण दो प्रकार के होते हैं जो निम्नलिखित है 

1. सामान्य  शीलगुण General Traits

            ऐसे शीलगुण जो समाज अथवा देश के अधिकांश लोगों में पाये जाते हैं। इसमें दो या दो से अधिक व्यक्तियों की तुलना की जा सकती है। जैसे - 

  • उत्तर भारत के लोग स्वार्थी होते हैं। 
  • दक्षिण भारत के लोग ईमानदार होते हैं।

2. व्यक्तिगत शीलगुण Individual Traits

            यह शीलगुण व्यक्ति विशेष में पाया जाता है। अल्पोर्ट के अनुसार यह सामान्य शीलगुण से बेहतर होता है। यह तीन प्रकार का होता है -

  • Cardinal Traits - ऐसे शीलगुण जो किसी किसी में पाये जाते हैं किंतु जिस में भी मिलता है तो सारे संसार से परिचित हो जाता है। जैसे-  हिटलर, महात्मा गांधी आदि….
  • Central Traits ( केंद्रीय शीलगुण ) - सामान्य व्यक्तियों का व्यक्तित्व किसी शीलगुण पर आधारित होता है। इसमें 5 से 10 विशेषताएं शामिल होती हैं। जैसे-  ईमानदारी, सच्चाई, दोस्ती आदि…………
  • Subordinate Traits ( सहायक शीलगुण ) - इसमें भोजन, वस्त्र, और बालों की बनावट शामिल है। इस शीलगुण द्वारा  व्यक्तित्व का निर्धारण नहीं होता केवल व्यक्तित्व को सहयोग प्राप्त होता है।


व्यक्तित्व का मापन

        व्यक्तित्व के मापन  की तीन विधियां हैं -

1. आत्म निष्ठ विधि Subjective Method

 ऐसी विधि जिस पर व्यक्तित्व का मापन करने वाले का प्रभाव या असर पड़ता है।

  • साक्षात्कार Interview
  • प्रेक्षण Observation
  • व्यक्ति इतिहास विधि Case Study Method
  • संचई अभिलेख  Cummulative
  • वृत्तांत अभिलेख Anecdotal Record ( without planning, अचानक व्यक्ति के व्यवहार का  प्रेक्षण करना )


2. वस्तुनिष्ठ विधि  Objective Method

            ऐसी विधि जिसमें व्यक्तित्व का मापन व्यक्तियों द्वारा दिए गए उत्तरों के आधार पर होता है।

व्यक्तित्व आविष्कारिका personality inventory

            इसमें प्रश्नों की सूची होती है। प्रश्न सीधे सरल और स्पष्ट होते हैं। प्रश्नों का उत्तर  हां, नहीं, सही, गलत  मे देना होता है। प्रश्न प्रथम कारक में होते हैं। जैसे - 

  • मैं ईमानदार हूं…………… 
  • मैं चोर हूं………... आदि

 उदाहरण -

  • MMPI  Minnesota multiphasic personality inventory  - Hathaway
  • Bell adjustment inventory  - Bell
  • PF 16 personality factor  - Cattle

आविष्कारिका के प्रश्न इतने सीधे, सरल और स्पष्ट होते हैं कि कोई भी व्यक्ति असली उत्तर छिपा सकता है।

प्रश्नावली Questionnaire

            इसमें प्रश्नों की सूची होती है। प्रश्न सीधे, सरल और स्पष्ट होते हैं। प्रश्नों का उत्तर हां, नहीं, सही, गलत में देना होता है। प्रश्न  द्वितीय कारक में होते हैं। जैसे-

  • तुम इमानदार हो…………
  • तुम चोर हो……….. आदि

प्रश्नावली का प्रयोग व्यक्तित्व मापन के साथ साथ अन्य क्षेत्रों में भी होता है जबकि आविष्कारिका का प्रयोग केवल व्यक्तित्व मापन में होता है।

Checklist

Rating Scale

Sociometry समाजमिति

            व्यक्तित्व का मापन साथ रहने वाले लोगों द्वारा होता है। सभी के द्वारा पसंद किए जाने पर व्यक्तित्व स्टार Star माना जाता है। किसी के द्वारा पसंद न किए जाने पर व्यक्तित्व विलग Isolated माना जाता है। किसी छोटे ग्रुप द्वारा पसंद किए जाने पर व्यक्तित्व क्लिक Clique माना जाता है।


3. प्रक्षेपी विधि Projective Method

             ऐसी विधि जिसमें व्यक्तित्व के संबंधित सीधे प्रश्न नहीं पूछे जाते।


शब्द साहचर्य विधि Word Associative Method   -Yung

            इसमें शब्दों की सूची सुनाई जाती है सुने हुए शब्दों में से उपयुक्त शब्द चुनना होता है। चुने हुए शब्दों के संबंधों के द्वारा व्यक्तित्व का मापन होता है।


वाक्य पूर्ति परीक्षण Sentence Completion Test

            इसमें अधूरे वाक्य लिए जाते हैं जिन्हें अपने अनुभव से वह ज्ञान से पूरा करना होता है। जैसे -

  • मेरी माता………………..
  • ईश्वर……………..


स्याही धब्बा परीक्षण  Inkblot Test - Rorschach Test

            स्याही के धब्बे वाले 10 कार्ड होते हैं जिन्हें देखकर व्यक्ति को बताना होता है की धब्बों में क्या दिखाई दिया। बताई गई बातों के आधार पर व्यक्तित्व का मापन होता है।


विषय आत्म बोधन परीक्षण TAT ( Thematic Apperception Test ) - Murry /  Morgan

            इस परीक्षण में 30 कार्ड होते हैं चित्र वाले और एक साधारण होता है 30 + 1  बराबर 31 कार्ड होते हैं। 30 कार्ड तीन भागों में विभाजित होते हैं। 10 पुरुष के, 10 महिला के, 10 मिक्स होते और एक खाली कार्ड होता है। जिस व्यक्ति का व्यक्तित्व चेक करना है उसके लिंग के आधार /  अनुसार  पहले 10 कार्ड दिए जाते हैं जिन्हें देखकर व्यक्ति को कहानी लिखनी होती है। कुछ घंटों के बाद 10 मिक्स कार्ड दिए जाते हैं जिन्हें देखकर व्यक्ति को कहानी लिखनी होती है। अंत में सादा कार्ड दिया जाता है जिस पर चित्र बनाकर कहानी लिखनी होती है। इस तरह कहानियों की संख्या 21 कार्ड की हो जाती है। कहानियों का विश्लेषण करने के बाद व्यक्तित्व का मापन किया जाता है।


बाल आत्म बोधन परीक्षण CAT ( Children Apperception Test )

            इस परीक्षण में पशुओं के चित्र वाले 10 कार्ड होते हैं। जिन्हें देखकर बच्चों को बताना होता है कि कार्ड में क्या दिखाई दिया। यह परीक्षण 3 से 10 वर्ष के बच्चों के लिए बनाया गया है। बच्चे पशुओं के हावभाव को आसानी से समझ लेते हैं।




0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post